बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अगस्त 22, 2016

7वां वेतन आयोग: रेल कर्मियों ने भरी हुंकार, जताई नाराजगी रनिंग स्टाफ की मांगों को लेकर उतर रेलवे मजदूर यूनियन ने दिल्ली के मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया।

नई दिल्ली, रनिंग स्टाफ की मांगों को लेकर उतर रेलवे मजदूर यूनियन ने दिल्ली के मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि चालक, गार्ड, सहायक चालक सहित अन्य रनिंग स्टाफ को सातवें वेतन आयोग की सिफारिशों का लाभ नहीं दिया जा रहा है।

यूनियन के महामंत्री बीसी शर्मा ने कहा कि रनिंग स्टाफ के ऊपर यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने की जिम्मेदारी होती है। त्योहार के दिनों में भी वे अपने परिवार से दूर रहते हैं और रोजाना लगभग 12 घंटे ड्यूटी करते हैं। इसके बावजूद इनके साथ नाइंसाफी की जा रही है।

सितंबर में एरियर के साथ मिलेगा 7वां वेतन आयोग, जानें कितनी बढ़ी सैलरी
शर्मा ने कहा कि सातवें वेतन आयोग ने रनिंग स्टाफ का वेतन व भत्ता निर्धारित करने का फैसला रेलवे बोर्ड पर छोड़ दिया है। वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुसार, कर्मचारियों के वेतन में 14.29 फीसद बढ़ोतरी होनी चाहिए।

केंद्र सरकार ने भी इसे मंजूर कर लिया है, लेकिन रेलवे बोर्ड ने रनिंग स्टाफ को 12.19 फीसद के हिसाब से वेतनवृद्धि करने का फैसला किया है। इसके विरोध में नेशनल फेडरेशन ऑफ इडियन रेलवे मैन के महामत्री डॉ. एम राघवैय्या ने रेल मंत्रालय को पत्र भी लिखा है।

यूनियन कें केंद्रीय अध्यक्ष एसएन मलिक ने हाई स्पीड ट्रेनों का ट्रिप अलाउंस बढ़ाने, कर्मचारियों को वर्दी के लिए अच्छा कपड़ा और सिलाई के लिए बाजार दर पर पैसे देने, गुड्स लोको पायलट को भी मेल लोको पायलट की तरह विशेष भत्ता देने, ट्रेनों की बढ़ रही संख्या के हिसाब से स्टेशनों पर रनिंग रूम में आवास क्षमता बढाने सहित अन्य लंबित मांगो को शीघ्र मानने की मांग की।

7वां वेतन आयोग: रेल कर्मियों ने भरी हुंकार, जताई नाराजगी रनिंग स्टाफ की मांगों को लेकर उतर रेलवे मजदूर यूनियन ने दिल्ली के मंडल रेल प्रबंधक (डीआरएम) दफ्तर के बाहर प्रदर्शन किया। Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।