बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

जुलाई 16, 2016

काउंसिलिंग नहीं तो तबादला नहीं, तबादला आवेदन की छायाप्रति, सेवा संबंधी व अन्य विवरण दो सेट में लाएं

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : अंतर जिला तबादले के लिए जिन शिक्षकों ने पिछले दिनों ऑनलाइन आवेदन किया है, यदि उन शिक्षकों ने काउंसिलिंग में प्रतिभाग नहीं किया तो उनका दूसरे जिले में स्थानांतरण नहीं होगा।

तबादलाआवेदन करने वाले हर शिक्षक के लिए काउंसिलिंग कराना अनिवार्य किया गया है। इस संबंध में बेसिक शिक्षा अधिकारियों को स्पष्ट निर्देश भेज दिए गए हैं। काउंसिलिंग शनिवार से शुरू हो रही है।

बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों को इस बार अंतर जिला तबादला कराने का मौका दिया गया है। ऑनलाइन आवेदन लिए जा चुके हैं। 23 हजार शिक्षकों ने तबादला मांगा है।

इसमें सबसे अधिक संख्या सीतापुर की है, जहां के करीब डेढ़ हजार शिक्षक अपने जिले में लौटना चाहते हैं। एनआइसी से शुक्रवार को डाटा मिलने के बाद परिषद मुख्यालय से जिलों को भेज दिया गया है। अब हर जिला मुख्यालय पर बेसिक शिक्षा अधिकारी शनिवार से लेकर सोमवार तक काउंसिलिंग कराएंगे।

इसमें जिन शिक्षकों ने जिस जिले से आवेदन किया है, वहीं पर बीएसए के समक्ष प्रस्तुत होना होगा। इसमें शिक्षक को आवेदन की फोटो कॉपी के साथ ही दो सेट में सेवा संबंधी व अन्य विवरण (जो दावे शिक्षक ने आवेदन में किए हैं) जमा करने होंगे। बीएसए सत्यापन करने के बाद रिपोर्ट परिषद सचिव को भेजेंगे।

इसमें यदि शिक्षक ने गलत सूचनाएं दी हैं या फिर वह तबादले के लिए अर्ह नहीं है तो उसका आवेदन जिले स्तर पर ही निरस्त होगा। परिषद सचिव ने स्पष्ट किया है कि यदि आवेदन करने वाले शिक्षकों ने काउंसिलिंग में प्रतिभाग नहीं किया तो उनके तबादले पर विचार नहीं किया जाएगा। इसलिए सभी को काउंसिलिंग में प्रतिभाग करना है। प्रदेश भर के हर जिले से आवेदन हुए हैं।

काउंसिलिंग नहीं तो तबादला नहीं, तबादला आवेदन की छायाप्रति, सेवा संबंधी व अन्य विवरण दो सेट में लाएं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।