बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

जुलाई 12, 2016

बड़ी खबर : सुप्रीम कोर्ट में शिक्षामित्रों के प्रवेश पर रोक,शिक्षामित्रों के प्रकरण में अगली सुनवाई 27 जुलाई को,क्लिक कर पूरी खबर पढ़ें

नई दिल्ली, श्याम सुमन,सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश के शिक्षा मित्रों के मामले में आदेश दिया है कि प्रकरण की अगली सुनवाई 27 जुलाई को होगी, लेकिन उस दिन एक भी शिक्षामित्र कोर्ट में नहीं आना चाहिए।

यदि एक भी शिक्षामित्र कोर्ट में घुसा तो मामले की सुनवाई नहीं की जाएगी और ऐसा बंदोबस्त किया जाएगा कि मामला सुनवाई के लिए उनके रिटायरमेंट से पहले नहीं आएगा। जस्टिस दीपक मिश्रा मुख्य न्यायाधीश बनकर अक्तूबर 2018 में सेवानिवृत्त होंगे।

जस्टिस दीपक मिश्रा और सी. नागप्पन की पीठ ने यह चेतावनी सुनवाई के दिन शिक्षामित्रों की कोर्ट में होने वाली भीड़ को देखते हुए दिया है। पीठ ने कहा कि 300 आदमी कोर्ट कक्ष में आ जाते हैं जबकि उसमें 15-20 लोगों के खड़े होने की जगह है। ऐसे में सुनवाई बहुत मुश्किल हो जाती है। वहीं कुछ लोग ऐसे चहरे बनाकर खड़े हो जाते हैं।

कुछ रोने की स्थिति में होते हैं। ऐसे में हम सुनवाई नहीं कर सकते। कोर्ट ने इससे पूर्व भी कहा था कि सुनवाई के दौरान लोग आंसू बहाने लगते हैं और उम्मीद करते हैं कि उनके पक्ष में फैसले हों।

पीठ की इस गंभीर चेतावनी पर शिक्षामित्रों के वकील पराग त्रिपाठी और सलमान खुर्शीद ने कहा माइलॉर्ड ऐसा मत करिए, हम शिक्षामित्रों को सुप्रीम कोर्ट में आने से रोकेंगे। वकीलों के इस आश्वासन पर कोर्ट ने मामले को 27 जुलाई के लिए स्थगित कर दी ।

पीठ ने कहा कि सहायक अध्यापक के पद पर समायोजन से वंचित रह गए 26,000 शिक्षामित्रों का मामला भी उसी दिन सुना जाएगा।

कोर्ट ने नोटिस जारी करने से भी इनकार कर दिया और कहा कि मामला एक जैसा ही है, उसी दिन सुना जाएगा।गौरतलब है कि सुनवाई को दौर सुप्रीम कोर्ट परिसर में मेले का माहौल रहता है। जो शिक्षामित्र कोर्ट में नहीं घुस पाते वे कॉरिडोर को घेरे रहते हैं

बड़ी खबर : सुप्रीम कोर्ट में शिक्षामित्रों के प्रवेश पर रोक,शिक्षामित्रों के प्रकरण में अगली सुनवाई 27 जुलाई को,क्लिक कर पूरी खबर पढ़ें Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।