बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अप्रैल 15, 2016

मिर्च कंपाउंड से हो सकती है कैंसर सेलकी मौत

चेन्नई। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, मद्रास के शोधकर्ताओं की नई खोज कैंसर से जूझ रहे लोगों के लिए जीवनदान साबित हो सकती है। शोध से सामने आया है कि मिर्च की तीक्ष्णता के लिए जिम्मेवार कंपाउंड किस तरह प्रोस्टेट कैंसर के सेल को मारता है?

 शोध परिणाम बताता है कि मिर्च कंपाउंड कैप्सैसिन का इस्तेमाल प्रभावी कैंसर रोधी दवा विकसित करने में हो सकता है। मिर्च कंपाउंड को इंजेक्शन या गोली के रूप में विकसित किया जा सकता है। इस अध्ययन में शोधकर्ता अशोक कुमार मिश्र और जीतेंद्रिय स्वैन ने पाया कि कंपाउंड की ऊंची खुराक सेल मेंब्रेनों को अलग कर देता है।
http://www.shikshamitranews.in/2016/04/chillies-protect-from-cancer.html

 करीब 10 वर्ष पहले शोधकर्ताओं ने जानकारी दी थी कि चूहे में कैप्सैसिन प्रोस्टेट कैंसर को मार सकता है जबकि दूसरे स्वस्थ सेल को कोई नुकसान नहीं पहुंचेगा। लेकिन आगे यह भी बताया कि मनुष्यों को उतनी ही खुराक के लिए बहुत बड़ी संख्या में मिर्च खाना जरूरी होगा। इसीलिए शोधकर्ताओं ने कैप्सैसिन के प्रभाव को गहराई से समझने का प्रयास किया। यह कदम भविष्य में नई दवा के लिए इसे काम में लाने के मकसद से उठाया गया।

मिर्च कंपाउंड से हो सकती है कैंसर सेलकी मौत Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।