बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

दिसंबर 07, 2015

शिक्षामित्र समायोजन कोर्ट केस लाइव : सुप्रीम कोर्ट में शिक्षामित्र व टेट के सम्बन्ध में हुई आज की सुनवाई की कहानी,मयंक तिवारी, गाजी इमाम आला,एस के पाठक,व जी जबानी, पढ़िए पूरा कोर्ट केस सारांश

मयंक तिवारी की कलम से......

नमस्कार दोस्तों,
आज हुई महत्वपूर्ण सुनवाई को संक्षिप्त रूप में तो आप सभी को अवगत करा ही दिया था। जैसा कि आप सभी को जानकारी है कि आज सुबह माननीय न्यायधीश दीपक मिश्रा जी व् पंत साहब की कोर्ट में शिक्षामित्रों का मामला था जिस पर आज मात्र 1मिनट ही सुनवाई हुई और उसे भी माननीय न्यायधीश दीपक मिश्र जी व् यू यू ललित जी की विशेष अदालत में भेज दिया गया।

यह केस 2बजे से सुना जाना था, हम सभी लोग 1:30पर ही कोर्ट में प्रवेश कर चुके थे। दोनों न्यायधीश 2:15pm पर कोर्ट रूम 4में आये और सुनवाई प्रारम्भ हुई।
शुरूआत में सरकार की तरफ से एडवोकेट ने अपना पक्ष रखा जिसमें उन्होंने शिक्षामित्र के पक्ष में बहस की। इस पर आनंद नंदन, अरविन्द श्रीवास्तव, आदि एडवोकेट्स ने सरकार का विरोध किया।


दोनों ही तरफ के एड्वोकेट अपना-अपना पक्ष रख रहे थे। एक पल को अरविन्द श्रीवास्तव पूर्ण समायोजन का रास्ता बना ही दिए थे कि वह कुछ अटक गए(यहाँ इस मुद्दे पर एक अच्छे सीनियर की कमी खली) और इसके कुछ देर बाद ही बहस अपनी प्रमुख SLP 4347-4347/14 पर आ गयी और दोनों न्यायधीश ने कुछ देर आपस में चर्चा की और 2नवम्बर के अपने आदेश की प्रगति रिपोर्ट पूछी।

सरकार की तरफ से एड्वोकेट तथा सचिव संजय सिन्हा (डी बी शर्मा जी तो हम लोगों के बीच फंसे हुए थे) ने रिपोर्ट प्रस्तुत की। इनके अनुसार.....
72,825पदों के सापेक्ष 58,135अभ्यर्थियों की नियुक्तियां विभाग द्वारा पूरी कर ली गयी है और रिक्त पदों के सापेक्ष कुल लगभग 75,000+ प्राप्त हुए प्रत्यावेदन के बाद गठित कमेटी द्वारा 12,091 प्रत्यावेदन (अभ्यर्थियों) को अध्यापक पद हेतु सभी अहर्ताओं को पूरा करते हुए योग्य पाया है।

इस पर दीपक मिश्रा जी ने पेन्सिल पेपर पर हिसाब लगाया (लगभग 58000 भर गए, 12000ये रिपोर्ट में है मतलब 70000 हो गए और कुल पदों के अनुसार लगभग 3000शेष है।) साथ ही वह यह भी देख रहे थे कि पूरा कोर्ट रूम एडवोकेट्स से तथा पीछे हम लोगों जो सुनने आया हुआ है से भरा हुआ है। जितने एड्वोकेट है उतने ही मुद्दे है।

इस पर उन्होंने व् गुणांक मेरिट के सीनियर एडवोकेट राकेश द्विवेदी के बोलने के बाद कोर्ट रूम में उपस्थित सभी एडवोकेट्स से उनके पिटीसनर/रेस्पोंडेंट की संख्या को पूछना सुरु कर दिया और उनको अपने पेपर पर नोट करने लगे।
जैसी की सभी एडवोकेट्स ने अपनी-अपनी SLP की संख्या बताई वह कुल संख्या लगभग 1,100 रही। इस पर दीपक मिश्रा जी ने सरकार को आदेश दिया कि शेष लगभग 3,000रिक्त पदों में इन सभी को एडोक पर नियुक्ति दे दी जाये।

(कोर्ट द्वारा ऐसा करने में यहां मैं मयंक तिवारी यह समझता हूँ यह इसलिए किया गया है क्योकि इस मुद्दे पर इतने विवाद हो गए है कि इनके याचिकाकर्ताओं को ही जॉब दे दो तो फिर विवाद ही खत्म)
शेष बीच-बीच में अन्य चर्चाएं भी हुई और फिर "प्रशिक्षु शिक्षक चयन 2011" के 72,825पदों पर टेट मेरिट (12वें संशोधन) तथा न्यूनतम कट ऑफ़ 70%(105) अनारक्षित तथा 60%(90) आरक्षित वर्ग की सीमा के साथ ही अभ्यर्थियों के चयन का आदेश लिखवाना प्रारम्भ किया।

जैसाकि हमने अपनी वरिष्ठ ऐ ओ आर को ब्रीफ किया था कि आदेश जब लिखना प्ररम्भ हो आप हमारे मुद्दों पर बोलना प्रारम्भ कर देना उन्होंने ऐसा ही किया और कोर्ट से कहा कि आपके बार-बार कहने के बाद भी सरकार द्वारा डेटा ऑनलाइन/वेबसाइट पर नही लाया जा रहा है। इस पर जज साहब ने सरकार को बहुत तेज डाँटते हुए कहा कि मेम हर बार बोल रही है इस बार आपने नही किया तो..........,
फिर आदेश में सप्तांत डेटा ऑनलाइन करते रहने का आदेश दिया।

इसके बाद लगभग सभी एड्वोकेट व् सुनने आये अभ्यर्थी कोर्ट रूम से जाने लगे पर सुनवाई जारी रही। सरकार ने कहा कि यदि शिक्षामित्र बाहर हो जायेंगे तो तत्काल में विद्यालयों की शिक्षा वाधित हो जायेगी इस पर अंत में सुप्रीम कोर्ट ने अगली सुनवाई होने तक 12सितम्बर के हाइकोर्ट के आदेश पर रोक लगा दी। अब सभी सम्बंधित मामलों की अगली सुनवाई 24फ़रवरी 2016 को होगी। सुनवाई पूर्ण न होने पर 25फ़रवरी में भी जारी रहेगी।
इन्ही शब्दों के साथ
आपका मयंक तिवारी
टेट संघर्ष मोर्चा
उत्तर प्रदेश



पूर्णेश शुक्ल महाकाल "कोर्ट केस सारांश :-

72825 सेफ हैं और नौकरी पा चुके लगभग 58000 हज़ार पर फिलहाल कोई खतरा नहीं ।

शिक्षमित्रों के अगेंस्ट आये हाइकोर्ट के आर्डर पे स्टे , नौकरी बहाल 24 फेब्रुअरी तक । उसके बाद उनके मामले पे डिपोसल होगा ।

विभिन्न SLP's में जिनके नाम अंकित हैं उनको ad hoc बेसिस पे तत्काल नौकरी देने को कहा ।

जिन 12000 के लगभग लोगों का वेरिफिकेशन ही चुका है उनका डेटा एक हफ्ते में ऑनलाइन करे सरकार ।

हमारे अधिवक्ता सच में मौजूद रहे ।

कल की तारीख स्थगित , अगली तारीख 24 फरवरी 2016 , कमर कस लीजिये ।


 सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत,सीएम के प्रयासों से ही न्याय की जगी आस-अहमद हसन

बेसिक शिक्षा मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार


एस के पाठक की कलम से......


 प्यारे साथियों आज की सुनवाई का सारांश -

  समस्त रिट पेटिशनरों को विशेष राहत ।  एस सी - एस टी मेरिट 5 % गिराई गयी ।  12192 प्रत्यावेदन जो की सही पाये गए है उन्हें तत्काल नियुक्ति देने का आदेश ।  शिक्षामित्र मामले में इलाहाबाद हाईकोर्ट के आदेश पर स्थगन ।अगली डेट 24 फरवरी 2016 ।शेष विस्तार से बाद में ....

सत्यमेव जयते !

आपका

एस के पाठक

टेट मोर्चा, उत्तर-प्रदेश


गाजी इमाम आला की कलम से....

प्रिय शिक्षा मित्र भाइयों बहनो के तरफ से महान अधिवक्ता पी चितंम्बरम जी, पराग त्रिपाठी जी, के के बेडूगोपाल जी, दुष्यंत दवे जी, अमित सिब्बल जी, महाधिवक्ता बिजय बहादुर सिंह जी, एम आर शमशाद जी, एडवोकेट अभिषेक श्रीवास्तव जी के कडी मेहनत करने के लिए धन्यवाद जिनके बहस के बाद मा.सुप्रीम कोर्ट ने मा हाईकोर्ट इलाहाबाद के आदेश पर स्टे कर दिया है पूरे प्रदेश के शिक्षा मित्रो मे खुशी की लहर दौड़ गई है मित्रों हमारी रणनीति कामयाब हो गई!

मित्रो एक बात और इन वकीलो के अलावा किसी भी वकील को बोलने का मौका नहीं मिला है बेवज़ह लोगों को गुमराह न किया जाए फाइनल सुनवाई 24 फरवरी को होना है अब शिक्षा मित्रो का रूका हुआ वेतन एरियर का भुगतान होगा तथा 12 सितम्बर के पहले के तरह शिक्षा मित्र शिक्षक बने रहेंगे और पूर्व की भांति सभी सुविधाएं बहाल हो गई है एक बात और कोर्ट के स्टेटस आने पर सब सामने आ जाएगा!

खास करके उन शहीदों शिक्षा मित्रो को नमन करते हैं जो आज हमारे बीच नहीं हैं! मा मुख्य मंत्री जी को, मा बेसिक शिक्षा मंत्री जी, पूर्व बेसिक शिक्षा मंत्री जी, सचिव बेसिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा निदेशक, सचिव बेसिक शिक्षा परिषद, उप निदेशक गणेश जी को दिली मुबारकबाद देते हैं! 

 धन्यवाद ------

आप का, गाजी इमाम आला (उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षा मित्र संघ)

शिक्षामित्र समायोजन कोर्ट केस लाइव : सुप्रीम कोर्ट में शिक्षामित्र व टेट के सम्बन्ध में हुई आज की सुनवाई की कहानी,मयंक तिवारी, गाजी इमाम आला,एस के पाठक,व जी जबानी, पढ़िए पूरा कोर्ट केस सारांश Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।