बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 15, 2015

शिक्षण संस्थानों में 26 को मनेगा संविधान दिवस, भारत सरकार ने 26 नवंबर को संविधान दिवस के तौर पर मनाने का लिया फैसला

इलाहाबाद (ब्यूरो)। भारतीय संविधान में 26 नवंबर के महत्व को रेखांकित करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्रालय की ओर से शिक्षण संस्थानों में गोष्ठी एवं प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा। मंत्रालय की ओर से इस दिवस को संविधान दिवस के तौर मनाने का निर्देश विश्वविद्यालय, स्कूल-कॉलेजों सहित सभी प्रकार के शिक्षण संस्थानों को दिया गया है।

संविधान सभा की ओर से भारतीय संविधान 26 नवंबर 1949 को अंगीकार किए जाने और 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान लागू किया गया था। भारत सरकार ने इस  से 26 नवंबर को संविधान दिवस के तौर पर मनाने का फैसला किया है। सीबीएसई की ओर से स्कूलों से प्रात:कालीन सत्र में गोष्ठी के माध्यम से संविधान के बारे में जानकारी देने को कहा है। इसमें संविधान की मूल भावना की जानकारी देने के साथ पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है।

 पोस्टर मेकिंग प्रतियोगिता में छठवीं से बारहवीं तक के विद्यार्थी भाग ले सकते हैं। क्लास टीचर अपनी-अपनी कक्षा से प्रतियोगिता के तीन सर्वश्रेष्ठ बच्चों के नाम चुनकर कला शिक्षक को सौपेंगे। स्कूल के प्रधानाचार्य उसी दिन अंत में विजेता छात्रों के नाम घोषित करेंगे।

 सर्वश्रेष्ठ विद्यार्थी को संविधान दिवस का प्रमाण पत्र दिया जाएगा। सीबीएसई ने स्कूल केप्रमुखों से इस कार्यक्रम को हर हाल में कराने को कहा है सीबीएसई के अतिरिक्त निदेशक सुगंध शर्मा की ओर से जारी सूचना में कहा गया है कि प्रधानाचार्य 200 शब्दों की एक रिपोर्ट कार्यक्रम के फोटो के साथ सीबीएसई को प्रेषित करेंगे। सीबीएसई ने स्कूलों के प्रधानाचार्यों से पोस्टर प्रतियोगिता एवं गोष्ठी कराने को कहा

शिक्षण संस्थानों में 26 को मनेगा संविधान दिवस, भारत सरकार ने 26 नवंबर को संविधान दिवस के तौर पर मनाने का लिया फैसला Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।