बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 12, 2015

72825 143 में महज पांच शिक्षकों ने ली तैनाती,

जमानियां (गाजीपुर): शिक्षकों की कमी से जूझ रहे क्षेत्र के परिषदीय विद्यालयों में नई नियुक्ति के बाद भी शिक्षकों की कमी दूर होने के आसार नहीं दिख रहे है। खंड शिक्षा कार्यालय ने क्षेत्र के विद्यालयों में 143 शिक्षकों के पद रिक्त होने की रिपोर्ट जिला मुख्यालय भेजी थी। वहां से इतनी ही संख्या में शिक्षकों को भेजा भी गया है लेकिन अभी तक वहां सिर्फ पांच टीईटी शिक्षकों ने ही अपना पद भार ग्रहण किया है।

इससे शिक्षकों की कमी दूर होती नहीं दिख रही है। प्रदेश में चल रही 72 हजार 825 टीईटी प्रशिक्षु शिक्षक नियुक्ति के तहत जिले में हुई प्रथम बैच के शिक्षकों की तैनाती के दौरान जमानियां ब्लाक में 143 शिक्षकों की नियुक्ति हुई। तब लगा कि शिक्षकों की कमी से जूझ रहे विद्यालय संतृप्त हो जाएंगे परंतु ऐसा नहीं हुआ। बीते दिनों हुए प्रशिक्षु शिक्षकों की मौलिक नियुक्ति के बाद अब तक महज 5 शिक्षकों ने ही मौलिक नियुक्ति कराई। ऐसे में परिषदीय विद्यालयों में शिक्षकों के पद खाली रह गए हैं।

 हालांकि मौलिक नियुक्ति के 21 दिनों के भीतर शिक्षकों को संबंधित विद्यालय पर योगदान करना है। शिक्षकों की कमी के चलते परिषदीय विद्यालयों में शिक्षा का स्तर गिरता जा रहा है । ऐसे में दिन पर दिन अभिभावकों का परिषदीय विद्यालयों से मोहभंग होता जा रहा है।

 21 दिन है योगदान की अवधि - मौलिक नियुक्ति के 21 दिनों तक योगदान की अवधि है। इसके बाद ही पता चलेगा की कितने शिक्षकों ने योगदान किया है। अभी तक पांच शिक्षकों ने मौलिक नियुक्ति कराया है। - जयराम पाल, खंड शिक्षा अधिकारी जमानियां।

keywords : 72825 teacher recruitment, gajipur,

72825 143 में महज पांच शिक्षकों ने ली तैनाती, Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।