बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अक्तूबर 15, 2015

अनिल यादव की नियुक्ति रद : अब हटेगा आयोग की भर्तियों में भ्रष्टाचार से पर्दा

विधि संवाददाता, इलाहाबाद इलाहाबाद हाईकोर्ट से बुधवार को राज्य सरकार को एक और बड़ा झटका लगा है। अदालत ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष अनिल कुमार यादव की नियुक्ति को अवैध करार देते हुए रद कर दिया। कोर्ट ने कहा कि अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति में संवैधानिक उपबंधों, पद की योग्यता, व्यक्ति की सत्य निष्ठा व विश्वसनीयता को ध्यान में नहीं रखा गया।

यह आदेश मुख्य न्यायाधीश डा. डीवाई चंद्रचूड़ तथा न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने सतीश कुमार सिंह की याचिका को स्वीकार करते हुए दिया है। कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई मंगलवार को पूरी कर ली थी और बुधवार दोपहर से पहले फैसला सुना दिया। उस समय हाईकोर्ट के बाहर भी सैकड़ों प्रतियोगियों की भीड़ जमा रही।

अब हटेगा आयोग की भर्तियों में भ्रष्टाचार से पर्दा-:

विधि संवाददाता, इलाहाबाद | इलाहाबाद हाईकोर्ट से बुधवार को राज्य सरकार को एक और बड़ा झटका लगा है। अदालत ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष अनिल कुमार यादव की नियुक्ति को अवैध करार देते हुए रद कर दिया। कोर्ट ने कहा कि अध्यक्ष पद पर उनकी नियुक्ति में संवैधानिक उपबंधों, पद की योग्यता, व्यक्ति की सत्य निष्ठा व विश्वसनीयता को ध्यान में नहीं रखा गया।

यह आदेश मुख्य न्यायाधीश डा. डीवाई चंद्रचूड़ तथा न्यायमूर्ति यशवंत वर्मा की खंडपीठ ने सतीश कुमार सिंह की याचिका को स्वीकार करते हुए दिया है। कोर्ट ने इस मामले में सुनवाई मंगलवार को पूरी कर ली थी और बुधवार दोपहर से पहले फैसला सुना दिया। उस समय हाईकोर्ट के बाहर भी सैकड़ों प्रतियोगियों की भीड़ जमा रही। खंडपीठ ने कहा कि नियुक्ति के लिए 83 अभ्यर्थियों पर विचार एवं तुलनात्मक आकलन न कर

अनिल यादव की नियुक्ति रद : अब हटेगा आयोग की भर्तियों में भ्रष्टाचार से पर्दा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।