बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अक्तूबर 26, 2015

शिक्षामित्रों के आरक्षित पदों का मांगा ब्योरा : प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शिक्षामित्रों के रिक्त पड़े पदों का एससीईआरटी

हरदोई, जागरण संवाददाता: मेरिट में स्थान न मिलने के बाद से नौकरी के इंतजार में बैठे टीइटी धारकों के लिए एक राहत भरी खबर है। प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शिक्षामित्रों के रिक्त पड़े पदों का राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण संस्थान ने ब्योरा मांगा है। माना जा रहा है कि रिक्त पदों को जोड़े जाने से कुछ अंकों से ही चयन प्रक्रिया से बाहर हुए आवेदकों का मौका मिल सकता है।

प्राथमिक विद्यालयों में 72 हजार 825 शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में हर जिले में शिक्षामित्रों के लिए रिक्तियों के सापेक्ष 10 फीसद पद आरक्षित किए गए थे। इन पदों को टीइटी उत्तीर्ण शिक्षामित्रों से ही भरा जाना था। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान के अनुसार जिले में करीब तीन सौ पद शिक्षामित्रों से भरे जाने थे, जिसमें से कुछ का ही चयन हुआ था और बाकी की रिक्तियां शेष प़ड़ी हैं। बताया जाता है कि हरदोई ही नहीं पूरे प्रदेश में यही स्थिति है और काफी पद रिक्त पड़े हैं। शासन ने उन्हें भरने का मंसूबा बनाया है।

 निदेशक राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद के हवाले से सहायक उप शिक्षा निदेशक मनोज कुमार अहिरवार ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों से इसका ब्योरा मांगा है। जिसमें शिक्षामित्र श्रेणी में आवंटित पद, शिक्षामित्र श्रेणी के भरे जा चुके पद और शेष बचे पदों की पूरी जानकारी मांगी गई है। जानकारों का कहना है कि हर जिले में शिक्षामित्रों के लिए आरक्षित पदों की संख्या बची है। माना जाता है कि अगर इन्हें जोड़ लिया जाए तो अन्य आवेदकों को मौका मिल जाएगा। जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान की प्राचार्य डा. मीरा पाल ने बताया कि जो सूचना मांगी गई है। बीएसए के माध्यम से सूचना भेजी जा रही है।

keywords : # shikshamitra, # scert, # upgovt,

शिक्षामित्रों के आरक्षित पदों का मांगा ब्योरा : प्रशिक्षु शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में शिक्षामित्रों के रिक्त पड़े पदों का एससीईआरटी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।