बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अक्तूबर 03, 2015

'मोदी ये बताएं कि उन्होंने हिंदीके लिए आखिर किया क्या?'प्रदेश के लोक निर्माण एवं सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह ने मोदी के हिंदी प्रेम पर बोला तीखा हमला

ब्यूरो / लखनऊ | 'नरेंद्र मोदी देश को ये बताएं कि हिंदी को आगे बढ़ाने के लिए आखिए उन्होंने अब तक किया क्या है?' अलग-अलग मसलों पर प्रधानमंत्री को घेरने वाले शिवपाल सिंह यादव ने इस बार मोदी के हिंदी प्रेम पर
तीखा हमला बोला है। उनका कहना है कि आखिर मोदी ने हिंदी के लिए किया क्या? 

सपा के प्रमुख प्रवक्ता और लोकनिर्माण एवं सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूछा कि हिंदी को सशक्त बनाने के लिए उन्होंने क्या किया है ? शिवपाल सिंह से बुधवार को लखनऊ विश्वविद्यालय और संबद्ध महाविद्यालयों के शिक्षक संघ के अध्यक्ष मनोज पांडेय और हिंदी शिक्षक संघ केअध्यक्ष दीपक राय के नेतृत्व में शिक्षकों का डेलीगेशन मिला।

 उन्होंने अपनी समस्याएं उनके सामने रखीं। हिंदी शिक्षकों से बातचीत करते हुए शिवपाल  यादव ने कहा कि हिंदी को संयुक्त राष्ट्र की आधिकारिक भाषा का दर्जा दिलाने के लिए हिंदी शिक्षकों को बहुआयामी अभियान चलाना चाहिए। शिक्षकों को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पूछना चाहिए कि जब उन्होंने खुद स्वीकारा है कि हिंदी न होती तो वे प्रधानमंत्री न बन पाते, मोदी बताएं कि पीएम बनने के बाद हिंदी को ताकतवर बनाने के लिए उन्होंने क्या किया है, और क्या करेंगे ? 

पीजीआई नर्स एसोसिएशन के नवनिर्वाचित अध्यक्ष सुमन सिंह की अगुवाई में नर्सों के शिष्टमंडल ने भी उनसे मुलाकात की। उन्होंने नर्सों की समस्याओं और समाधान पर चर्चा की। शिवपाल ने डॉ. मनोज पांडेय, दीपक राय और सुमन सिंह अपने-अपने संगठनों का अध्यक्ष बनने की बधाई दी। इस अवसर पर समाजवादी चिंतक सभा के अध्यक्ष दीपक मिश्र और डॉ. पंकज कुमार भी मौजूद थे।

'मोदी ये बताएं कि उन्होंने हिंदीके लिए आखिर किया क्या?'प्रदेश के लोक निर्माण एवं सिंचाई मंत्री शिवपाल सिंह ने मोदी के हिंदी प्रेम पर बोला तीखा हमला Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।