बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अक्तूबर 27, 2015

सातवाँ वेतन आयोग : 4 करोड़ लोगों पर बरसेगा धन, पहले वेतन आयोग की तुलना में 428 गुना तक पहुंच गई बेसिक सैलरी,

नई दिल्ली केंद्र सरकार अपने कर्मचारियों के लिए सातवें वेतन आयोग\ की सिफारिशों को कभी भी हरी झंडी दे सकती है। जैसे ही सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू होंगी केंद्रीय कर्मचारियों की बेसिक सेलरी करीब 15 हजार रुपए तक पहुंच जाएगी।

 हर कर्मचारी इसी उम्मीद है कि सरकार नववर्ष के तोहफे के रूप में सातवां वेतन आयोग लागू करने की घोषणा कर दे और उन पर धन की बरसात हो जाए। उम्मीद है कि जनवरी, 2016 से सातवां वेतन आयोग लागू कर दिया जाएगा। सरकार चाहे जब वेतन आयोग लागू करे, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि पहले वेतन आयोग के समय केंद्रीय कर्मचारियों की बेसिक सेलरी मात्र 35 रुपए निर्धारित की गई थी, जो अब 428 गुना बढ़कर 15000 रुपए तक जा पहुंची है।
  जानिए सातवें वेतन आयोग से किस–किसको कितना फायदा होने वाला है –

4 करोड़ लोगों पर बरसेगा धन :-

सातवां वेतन आयोग लागू होते ही करीब 50 लाख केंद्रीय कर्मचारियों को सीधा लाभ मिलेगा यानी उनका वेतन
बढ़ जाएगा। साथ ही रिटायर होने के बाद पेंशन ले रहे 55 लाख लोगों को भी पेंशन बढ़ोतरी के रूप में सीधा फायदा मिलेगा। इस तरह लगभग एक करोड़ लोगों को सीधा और उनके परिवार के सदस्यों को मिला लें (औसतन हर परिवार में चार सदस्य) तो यह लाभ चार करोड़ से अधिक लोगों को मिलने वाला है। इसमें वेतन तो बढ़ेगा ही, यदि पिछली तिथि से लागू हुआ तो अच्छा खासा एरियर मिलना भी तय है।


क्या है वेतन आयोग?

वेतन आयोग यानी सेलरी की समीक्षा। यह काम सेवानिवृत्त न्यायाधीश को सौंपा जाता है। सरकार हर दस साल
बाद वेतन आयोग का गठन करती है, जो देशभर में तैनात केंद्रीय कर्मचारियों की स्थितियों का अध्ययन करता है, महंगाई का हिसाब लगाता है, अन्य क्षेत्रों में वेतन की स्थिति पर नजर डालता है और इसके बाद यह सिफारिश करता है कि केंद्रीय कर्मचारियों को वेतन कितना मिलना चाहिए। वेतन आयोग सिर्फ वेतन तक
ही सीमित नहीं होता, बल्कि इसी में यह फार्मूला भी तय किया जाता है कि किसी वर्ग के कर्मचारी का इंक्रीमेंट
यानी वेतन में बढ़ोतरी का फार्मूला क्या होगा। साथ ही उसकी तरक्की किस आधार पर और कितने समय में
होगी।

यह है वेतन आयोग यानी पे कमीशन का पूरा इतिहास :-

पहला वेतन आयोग :-

देश में सबसे पहले वेतन आयोग का गठन आजादी से सवा साल पहले यानी मई 1946 में किया गया था। ठीक एक साल बाद यानी मई 1947 में इसकी रिपोर्ट आई, जिसमें केंद्रीय कर्मचारियों की बेसिक सेलरी 35 रुपए तय की गई थी।

दूसरा वेतन आयोग :-

 दूसरे वेतन आयोग का गठन अगस्त 1957 में किया गया था। इसने लगभग दो साल बाद मई 1959 में अपनी रिपोर्ट सरकार को दी। इसमें बेसिक सेलरी दोगुने से भी ज्यादा यानी 80 रुपए तय की गई।

तीसरा वेतन आयोग :-

तीसरे वेतन आयोग का गठन अप्रैल 1970 में किया गया था। इसने लगभग तीन साल बाद मार्च 1973 में अपनी रिपोर्ट सरकार को दी। इसमें बेसिक सेलरी तीन गुणा से भी ज्यादा यानी 260 रुपए तय की गई।

चौथा वेतन आयोग :-

 चौथे वेतन आयोग का गठन जून 1983 में किया गया था। इसने लगभग तीन साल बाद 1986 में अपनी रिपोर्ट सरकार को दी। लेकिन सरकार ने इससे दोबारा रिपोर्ट बनाने को कहा। इसने अगले साल दोबारा रिपोर्ट सौंपी। इसमें बेसिक सेलरी तीन गुणा से भी ज्यादा यानी 950 रुपए तय की गई।

पांचवां वेतन आयोग :-

 पांचवें वेतन आयोग का गठन अप्रैल 1994 में किया गया था। इसने लगभग तीन साल बाद जनवरी 1997 में रिपोर्ट सरकार को दी। इसमें बेसिक सेलरी तीन गुणा से भी ज्यादा यानी 3050 रुपए तय की गई।

छठा वेतन आयोग :-

छठे वेतन आयोग का गठन अक्टूबर 2006 में किया गया था। इसने लगभग डेढ साल बाद मार्च 2008 में रिपोर्ट सरकार को दी। इसमें बेसिक सेलरी 7730 रुपए तय की गई।

सातवां वेतन आयोग:-

सातवें वेतन आयोग का गठन फरवरी 2014 में किया गया था। इसकी सिफारिशें सरकार तक पहुंच गई हैं, जिन्हें अगले साल यानी जनवरी 2016 से लागू करने की उम्मीद है। इसमें बेसिक सेलरी 15000 रुपए से भी अधिक तय की गई है।

कुछ ऐसी हैं सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें-  

कुछ ऐसी हैं सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें :-

सरकारी नौकरी में भी है लाखों रुपए तनख्वाह वेतन के मामले में युवाओं की धारणा होती है कि यदि टेलेंट हो तो प्राइवेट सेक्टर में खूब पैसा कमा सकते हैं, लेकिन उन्हें जानकर हैरानी होगी कि सरकारी नौकरी में भी लाखों रुपए में सेलरी पहुंच जाती है। उदाहरण के तौर पर केबिनेट सचिव, प्रशासनिक अधिकारियों यानी आईएएस, आईपीएस और आईआरएस आदि का वेतन ही शीर्ष पर पहुंचते-पहुंचते डेढ लाख से ऊपर हो जाता है। इतना ही नहीं, अनेक भत्ते भी मिला लिए जाएं तो यह रकम और बढ़ जाती है।
सुनील दत्त राजपूत 

खबर साभार : स्टाफ न्यूज़ डॉट इन

सातवाँ वेतन आयोग : 4 करोड़ लोगों पर बरसेगा धन, पहले वेतन आयोग की तुलना में 428 गुना तक पहुंच गई बेसिक सैलरी, Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।