बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 06, 2015

इनकी सफलता का मूलमंत्र बन गई गीता की शिक्षा

आज जन्माष्टमी है और शिक्षक दिवस भी। इस अवसर पर ‘हिन्दुस्तान’ ने गीता के उपदेश और देश-दुनिया की सफल हस्तियों के मूल मंत्रों का मिलान किया तो एहसास हुआ कि यही उनके जीवन के सूत्र भी हैं। एक नजर उनके ऐसे ही बयानों पर जो लोगों में प्रेरणा का संचार कर सकते हैं।

हार-जीत की चिंता बगैर लक्ष्य की ओर बढ़ो।

(भावार्थ: अध्याय-2, श्लोक-11)
हर व्यक्ति का कौशल समान भले ही न हो लेकिन सब के पास कौशल विकास के समान मौके जरूर होते हैं। अपनी क्षमताओं को पहचानें। उन्हें कम या ज्यादा आंकने के बजाय लगातार निखारने की कोशिश करें। फिर देखें, आपको कोई नहीं रोक पाएगा। - एपीजे अब्दुल कलाम, पूर्व राष्ट्रपति

कर्म किए जा, फल की इच्छा मत कर।
(भावार्थ : अध्याय-2, श्लोक-47)
सच कहूं तो मैं कभी मेगास्टार, सदी का महानायक और बॉलीवुड शहंशाह जैसे तमगों के पीछे नहीं भागा। मैंने
बतौर अभिनेता हर किरदार को पर्दे पर हमेशा सर्वश्रेष्ठ ढंग से पेश करने का प्रयास किया। इस कोशिश में ये तमगे निरंतर मेरे नाम के साथ जुड़ते गए। -अमिताभ बच्चन, बॉलीवुड अभिनेता

मोह-माया छोड़ मानवता के लिए काम करो।

(भावार्थ: अध्याय-5, श्लोक-7)
आवश्यक नहीं कि इंसान जो फल बोए, उसकी मिठास भी चख पाए। हर व्यक्ति खाली हाथ आता है और उसे खाली हाथ ही दुनिया से जाना पड़ता है। पर मनुष्य की भलाई के लिए किए उसके प्रयास उसे लोगों के दिलों में अमर रखते हैं। - वॉरेन बफेट, अमेरिकी उद्योगपति

शारीरिक सुख से ज्यादा आत्मसंतुष्टि के लिए काम
करो।
(भावार्थ: अध्याय-2, श्लोक-20)
अगर हमारा मकसद सिर्फ पैसे कमाना होता तो हमने कंपनी कब की बेच दी होती और समुद्र किनारे बंगला
बनाकर आलीशान जिंदगी जी रहे होते। हमारा मकसद लोगों की जिंदगी को आसान बनाना है। इससे हमें मानसिक सुकून और आत्मसंतुष्टि हासिल होती है।
- लैरी पेज, गूगल के सह-संस्थापक

इनकी सफलता का मूलमंत्र बन गई गीता की शिक्षा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।