बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 24, 2015

यहाँ ऐसे आती है शैक्षणिक गुणवत्ता : महर्षि विद्या मंदिर इंटर कालेज में: शिक्षक ने होमवर्क न करने पर छात्र को पीटा

जेल रोड स्थित महर्षि विद्या मंदिर इंटर कालेज में शिक्षक के गणित का होमवर्क पूरा नहीं करने पर छात्र कोबुरी तरह पीटने का मामला सामने आया है। घटना के बाद से पीड़ित छात्र खौफजदा है। परिजनों नेघटना को लेकर प्रिंसिपल से शिक्षक की शिकायत की है। प्रिंसिपल ने घटना की जांच करके शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है।शहर के वर्मा चौराहा मोहल्ला निवासी उदय सिंह का 12 वर्षीय पुत्र कृष्ण प्रताप सिंह महर्षि विद्या मंदिर में कक्षा सात का छात्र है।

छात्र नेसोमवार शाम घर पहुंचकर कपड़े उतारे, तो परिजन उसकेशरीर पर काले निशान देखकर हैरत में पड़ गए। स्कूल में पिटाई किए जाने की बात सामने आने पर मंगलवार को छात्र को लेकर उसके पिता स्कूल पहुंचे।प्रिंसिपल एके मिश्र को छात्र के पिता ने बताया गणित के शिक्षक प्रभात गुप्ता ने उसके बेटे की बुरी तरह पिटाई की है। प्रिंसिपल के पूछताछ करने पर शिक्षक प्रभात गुप्ता ने छात्र की पिटाई करने की बात स्वीकार कर ली। छात्र ने बताया क्लास के सभी छात्रों का गणित का होमवर्क पूरा नहीं था।

 कामपूरा करने के लिए टीचर ने कहा था।उन्होंने क्लास के सारे छात्रों की पिटाई की थी लेकिन उसे सबसे अधिक पीटा। छात्र के पिता ने बतायाउसका बेटा पिटाई के बाद से खौफजदा है। वह ठीक सेबातचीत नहीं कर पा रहा है। उसने खाना भी नहीं खाया है। प्रिंसिपल ने बताया शिकायत पर घटना की जांचकी जा रही है। दोषी साबित होने पर वह शिक्षक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेंगे।

यहाँ ऐसे आती है शैक्षणिक गुणवत्ता : महर्षि विद्या मंदिर इंटर कालेज में: शिक्षक ने होमवर्क न करने पर छात्र को पीटा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।