बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 24, 2015

चाय बेचते-बेचते हिन्दी सीखी: मोदी, हिन्दी सभी बोली-भाषाओं को साथ लाकर होगी समृद्ध पीएम जताई उम्मीद,

 भोपाल, एजेंसिया : पीएम नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को भोपाल में 10वें विश्व हिन्दी सम्मेलन का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा,‘मेरी मातृभाषा हिन्दी नहीं गुजराती है। बचपन में मुझे अच्छी हिन्दी नहीं आती थी लेकिन चाय बेचते बेचते मैंने इसे सीख लिया।’ उन्होंने उम्मीद जताई कि हिन्दी सभी बोली-भाषाओं को साथ लाकर समृद्ध होगी।

 यूपी वालों से हिन्दी सीखी:-


अपने उद्घाटन भाषण में उन्होंने कहा, ‘मुंबई में दूध का कारोबार करने वाले यूपी के लोग मेरे गांव में किसानों से भैंस खरीदने के लिए आते थे। वे भैंसों को मालगाड़ी में लादकर ले जाते थे। मैं उनके लिए चाय लेकर जाता था। उन्हें गुजराती नहीं आती थी और मुझे हिन्दी।

 ऐसे में मेरे पास हिन्दी सीखने के अलावा कोई चारा नहीं था।’ मेरा क्या होता: पीएम ने कहा, ‘अगर आज मुझे हिन्दी नहीं आती तो मेरा क्या होता। मैं लोगों तक कैसे पहुंचता। किसी भाषा की क्या ताकत होती है, इसका मुझे अंदाजा है।’ उन्होंने कहा, ‘गुजरात के लोग गुजराती में झगड़ा नहीं करते। दो लोगों के बीच झगड़ा होने पर वे हिन्दी में तू-तू, मैं-मैं करने लगते हैं। वे गुजराती में झगड़ा कर ही नहीं सकते क्योंकि गुजराती में वह भाव नहीं आता।

 उन्हें लगता है कि हिन्दी बोलते हुए लडूंगा तो दूसरे को लगेगा वह दमखम वाला है।’ 90% भाषाओं पर संकट: उन्होंने कहा, ‘किसी चीज की अहमियत तब पता चलती है, जब वह नहीं रहती। भाषा शास्त्रियों का मानना है कि 21वीं सदी के अंत तक विश्व की 6000 में से 90% भाषाएं लुप्त हो सकती हैं। ऐसे में इनके संरक्षण का दायित्व हम सबका है। भारत में भाषाओं का अनमोल खजाना है। इन भाषाओं को हिन्दी से जोड़ने पर राष्ट्रभाषा और ताकतवर होती जाएगी।

चाय बेचते-बेचते हिन्दी सीखी: मोदी, हिन्दी सभी बोली-भाषाओं को साथ लाकर होगी समृद्ध पीएम जताई उम्मीद, Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।