बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 17, 2015

शिक्षामित्रों एवं पुलिस बीच हुए बवाल का मुकदमा दर्ज करने को पुलिस की माथापच्ची :दस नामजद व दो हजार अज्ञात शिक्षामित्रों पर मुकदमा

फतेहपुर, जागरण संवाददाता : शिक्षामित्रों एवं पुलिस बीच मंगलवार को हुए बवाल का मुकदमा दर्ज करने को लेकर पुलिस दूसरे दिन भी माथापच्ची करती रही। हालांकि एसपी  अनीस अहमद अंसारी के निर्देश पर शहर कोतवाल ने दस नामजद व दो हजार अज्ञात शिक्षामित्रों के खिलाफ बलवा व सीएलए एक्ट के तहत मुकदमा कायम कर लिया है लेकिन उसे बताने में पुलिस अफसर देर रात तक कतराते रहे।

बताते चलें कि मंगलवार को प्रदर्शन कर रहे शिक्षामित्रों ने डयूटी पर मुस्तैद पुलिस टीम पर पथराव कर दिया था जिस पर पुलिस फोर्स ने शिक्षामित्रों पर लाठी चटका कर आंसू गैस के गोले एवं रबर की गोलियां दागीं थी जिसमें दर्जन भर शिक्षामित्र व पथराव से एडीएम, एसडीएम, सीओ सिटी समेत दर्जन भर पुलिस कर्मी भी जख्मी हो गए थे।

पुलिस ने देर शाम सदर कोतवाली में आदर्श शिक्षामित्र वेलफेयर एसोसिएशन अध्यक्ष विजय सिंह, महामंत्री शिवकुमार यादव, प्राथमिक शिक्षा संघ अध्यक्ष विक्रम सिंह भदौरिया, महामंत्री रवींद्र पटेल, ज्ञानेंद्र कुमार मिश्रा -तुलसीपुर धाता, इंद्रप्रकाश, तारिक हुसैन -बाकरगंज, मो. हसन - आजमपुर, विमल कुमार कुशवाहा - गोहरारी, लक्ष्मीशंकर शुक्ला - कुसुम्भी एवं 2000 अज्ञात के खिलाफ धारा 147, 148, 149, 336, 188, 323, 504 आईपीसी एवं 7 सीएलए एक्ट के\ तहत मुकदमा कायम कर तफ्तीश शुरु कर दी है।

शिक्षामित्र संघ ने पुलिस की एकतरफा कार्रवाई की ¨नदा करते हुए कहा कि पुलिस- प्रशासन ने विश्वासघात किया है। वार्ता में मुकदमा दर्ज न करने की बात कही। पुलिस की  लाठी से एक दर्जन शिक्षामित्र गंभीर रूप से घायल हो गए है। गुरुवार को संघ की बैठक बुलाकर मुंह तोड़ जवाब देने की रणनीति तय की जाएगी। यदि शिक्षामित्रों पर मुकदमा किया गया है तो प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों पर भी मुकदमा दर्ज किया जाए।

शिक्षामित्रों एवं पुलिस बीच हुए बवाल का मुकदमा दर्ज करने को पुलिस की माथापच्ची :दस नामजद व दो हजार अज्ञात शिक्षामित्रों पर मुकदमा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।