बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अगस्त 28, 2015

टालने की आदत हमेशा बुरी नहीं होती, यह रचनात्मक भी हो सकती है। : पूरा आलेख पढ़ें ।

टालने की आदत हमेशा बुरी नहीं होती। यह रचनात्मक भी हो सकती है। हमारे पास कामों का भंडार होता है।
इनमें से कुछ को करना और कुछ को छोड़ना अनिवार्य होता है। इन दोनों श्रेणियों से कहीं विशाल उन कामों
की श्रेणी होती है, जो हमें जरूरी लगते भी हैं और नहीं भी। यहां हमें प्राथमिकता तय करनी होती है। हमें टालू
होना पड़ता है। ब्रायन टे्रसी दुनिया के शीर्षस्थ मैनेजमेंट मोटिवेटरों में एक हैं। वह 'रचनात्मक टाल-मटोल' शब्द का जिक्र अक्सर करते हैं। उनका कहना है कि आप रोजाना बस एक-दो जरूरी कामों का चयन प्राथमिकता के तौर पर कर लें और बाकी को टाल दें।

यह अभ्यास घर-दफ्तर सभी जगह करना होगा और जीवन भर, क्योंकि हमेशा और हर जगह आपको अपने सामने कामों का ढेर मिलने वाला है। पर्यावरणविद और नोबेल पुरस्कार विजेता वांगारी मथाई ने एक बार साक्षात्कार में कहा कि वह खुद को सफल मानती हैं, क्योंकि अपने लिए उन्होंने वह काम चुना, जो उनके लिए सबसे महत्वपूर्ण था-पौधे लगाना और धरती की हरियाली कायम रखने का प्रयास करना। बाकी काम तो बहुत थे, लेकिन उनको वह टालती रहीं। वांगारी ने जो कहा, उसे इस तरह से भी समझा जा सकता है कि समाज के लिए महत्वपूर्ण हैं, जिन्होंने अपने जीवन मेंनमहत्वहीन कामों को टाला। सफल लोग आमतौर पर विफल लोगों से अलग नहीं होते।।उनके बीच हमेशा इस बात का अंतर होता है कि वे ज्यादा मूल्यवान काम करते हैं। याद रखा जाना चाहिए कि हम जब भी किसी काम को करने का फैसला करते हैं, तो चेतन या अवचेतन रूप से उसी समय किसी दूसरे काम को नहीं करने का फैसला कर रहे होते हैं। हमेशा एक अच्छा फैसला,एक गलत फैसले को दरकिनार करने या टालने की बुनियाद पर खड़ा होता है। तो हमें टालना आना ही चाहिए। बगैर इसके महत्वपूर्ण काम का चयन असंभव है।

खबर साभार : हिंदुस्तान ।

टालने की आदत हमेशा बुरी नहीं होती, यह रचनात्मक भी हो सकती है। : पूरा आलेख पढ़ें । Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।