बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अगस्त 28, 2015

एंड्रॉयड यूजर्स इस तरह बोलकर फटाफट टाइप कर सकते हैं मैसेज, आइये जाने कैसे ?

अपने स्मार्टफोन पर अगर आपको टाइपिंग करने में अधिक समय लगता है तो आपके पास दो विकल्प हैं। आप चाहें तो अपनी आवाज़ रिकॉर्ड करके उसको लिखित शब्दों में बदल लें या फिर हैंडराइटिंग टूल का इस्तेमाल करें।बोले हुए शब्दों की मदद से टाइपिंग आसान नहीं है, ख़ास तौर पर हिंदी में। अंग्रेजी में भी बोले हुए शब्दों के उच्चारण को समझने में आपका फ़ोन गड़बड़ियाँ करता है। अगर गूगल वॉयस आपके काम नहीं आता है तो अपनी हैंडराइटिंग से टाइपिंग कर सकते हैं।दोनों की तुलना करें तो अपने हैंडराइटिंग का इस्तेमाल करके टाइप करना ज़्यादा आसान है। आइए आपको बताते हैं अपने टच स्क्रीन स्मार्टफोन पर आप अपनी उंगलियों से लिखकर कैसे टाइपिंग कर सकते हैं।


गूगल हैंडराइटिंग इनपुट डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें
प्ले स्टोर से आप गूगल हैंडराइटिंग इनपुट डाउनलोड कर के इनस्टॉल कर लीजिए।इनस्टॉल करने के बाद ओके प्रेस करके इसकी शर्तें मंज़ूर कीजिए। उसके बाद आपके स्क्रीन पर नए की बोर्ड के लिए जानकारी आएगी। यहां पर आपको अगर अंग्रेजी के अलावा कोई दूसरी भाषा भी इनस्टॉल करना है तो उसके लिए विकल्प मिलेगा। उसके बाद आपको तीन विकल्प मिलेंगे जिसमें गूगल हैंडराइटिंग तीसरा होगा।जब आप इस्तेमाल करके देखेंगे तो थोड़ा हैरान होंगे क्योंकि आपकी हैंडराइटिंग को पहचानने में ये ऐप बहुत ही सटीक है।अगर आप पूरे शब्द को टाइप नहीं कर सकते हैं तो दो-चार शब्द लिखकर देख सकते हैं। उसके बाद की बोर्ड से टाइप कर शब्द पूरा कर सकते हैं।

न्यूज़ साभार:अमर उजाला (26 अगस्त 2015)

एंड्रॉयड यूजर्स इस तरह बोलकर फटाफट टाइप कर सकते हैं मैसेज, आइये जाने कैसे ? Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।